स्वामी विवेकानंद सांस्कृतिक केंद्र, सियोल, दक्षिण कोरिया

सोल, हनम-डोंग, कोरिया में स्वामी विवेकानंद सांस्कृतिक केंद्र, भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद का एक सांस्कृतिक केंद्र है। इसकी स्थापना 1 जुलाई 2011 को हुई थी।

यह केंद्र, भारत और कोरिया गणराज्य के बीच सांस्कृतिक कार्यक्रमों, सांस्कृतिक संगोष्ठियों, कार्यशालाओं का आयोजन करके और योग, हिंदी, भारतीय शास्त्रीय संगीत जैसेकि तबला और भारतीय नृत्य जैसेकि कत्थक, ओडिसी आदि , समसामयिक के लिए भारतीय गुरु-पेशेवरों और प्रशिक्षकों को नियुक्त करके द्विपक्षीय सांस्कृतिक संबंधों और जागरूकता को बढ़ावा देता है। केंद्र प्रसिद्ध कोरियाई विद्वानों और शिक्षाविदों को शामिल करके भारतीय संस्कृति के विभिन्न पहलुओं पर विशेष व्याख्यान आयोजित करता है। केंद्र ने भारतीय संस्कृति पर स्थानीय प्रतिभाओं का उत्थान करते हुए, अन्य भारतीय कला रूपों और भाषाओं के अलावा अपने परिसर में सफलतापूर्वक कक्षाएं शुरू की हैं।

केंद्र ने, सिओल में पाक संस्थानों के साथ भारतीय खाना पकाने की कक्षाओं की व्यवस्था करके और इसके परिसर और सार्वजनिक स्थानों जैसे पुस्तकालयों, फिल्म हॉल और पार्कों में भारतीय फिल्मों की स्क्रीनिंग करके और कोरिया में कैरम जैसे भारतीय खेलों की शुरुआत करके संस्कृति संवर्धन के दायरे का विस्तार किया है ।

इसके अलावा केंद्र ने , अपने आउटरीच कार्यक्रम के एक भाग के रूप में, स्कूल, विश्वविद्यालय, संघ और अन्य संस्थाओं के लिए अपने परिसर खोले हैं ताकि पूरे कोरिया में कार्यक्रम का संचालन किया जा सके और सियोल से दूर रहने वाले लोगों तक पहुँचा जा सके। यह भारत और कोरिया दोनों के कलाकारों, शिक्षाविदों, लेखकों और कलाकारों को अपनी प्रतिभा दिखाने के लिए अपना परिसर प्रदान करता है।

इस केंद्र ने विस्तृत संपर्क स्थापित किए है और कोरिया में भारतीय संस्कृति को बढ़ावा देने वाले हितधारकों को व्यापक बनाने के लिए कई प्रांतों, सांस्कृतिक संगठनों और शैक्षणिक संस्थानों के साथ समझौता ज्ञापन किया है।

स्वामी विवेकानंद सांस्कृतिक केंद्र, कोरिया में कई कार्यक्रम आयोजित कर रहा है जैसे; ‘अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस’, टैगोर जयंती ’, गांधी जयंती’ और कोरिया में भारत का उत्सव - 'सारंग' प्रति वर्ष”। कोरियाई भाषा में सारंग का अर्थ "प्यार " है और यह विगत 4 वर्षों से स्वामी विवेकानंद सांस्कृतिक केंद्र द्वारा आयोजित किया जा रहा है। यह अब कोरिया का एक महत्वपूर्ण वार्षिक सांस्कृतिक उत्सव बन गया है। स्वामी विवेकानंद सांस्कृतिक केंद्र ने सारंग के माध्यम से स्थानीय मेजबान और संगठनों के साथ मिलकर कोरिया के विभिन्न हिस्सों में दस दिन तक नृत्य, संगीत, योग, भारतीय फिल्में, व्यंजन, कला और शैक्षणिक कार्यों जैसे विविध भारतीय कला रूपों का प्रदर्शन करता है।

स्वामी विवेकानंद सांस्कृतिक केंद्र के अलावा, बुसान में एक और भारतीय संस्कृति केंद्र है, जो विदेशों में दो सार्वजनिक निजी भागीदारी मॉडल में से एक है। भारतीय संस्कृति केंद्र, आईसीसीआर के आंशिक समर्थन से, भारतीय संस्कृति के लिए एक शिक्षक और नृत्य शिक्षक की प्रतिनियुक्ति सहित, बुसान में, भारतीय संस्कृति को बढ़ावा दे रहा है और बुसान और कोरिया के दक्षिणी हिस्सों में गतिविधियों को आगे बढ़ाता है।

डॉ. सोनू त्रिवेदी निर्देशक, भारतीय सांस्कृतिक सांस्कृतिक केंद्र, सियोल भारत के दूतावास, 102, डोकसोडांग-रो, योंगसन-गु, सियोल ईमेल: iccr[dot]seoul[at]mea[dot]gov[dot]in,itc[dot]seoul[at]mea[dot]gov[dot]in मोबाइल: +82 1071604288 वेबसाइट: www.indembassyseoul.gov.in/icc/