पुस्‍तकालय फैलोशिप

भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद् मौलाना आजाद, भारतीय कला, संस्कृति, साहित्य, दर्शन, इतिहास और अंतरराष्ट्रीय एवं कूटनीतिक संबंधों पर विशेष बल के साथ जीवन संबंधी पढ़ाई सहित कार्यनीति संबंधी विषयों पर उनके शोध की सुविधा के लिए योग्य विद्वानों को सालाना छह पुस्‍तकालय फैलोशिप प्रदान करती है। पुस्‍तकालय फैलोशिप कार्यक्रम को तीन महीने की अवधि के लिए प्रति माह 10,000/- रुपए के वजीफे के साथ वर्ष 2002-2003 में शुरू किया गया था। इस कार्यक्रम में योग्य विद्वानों द्वारा पुस्‍तकालय के समृद्ध संसाधनों के अधिक से अधिक उपयोग को बढ़ावा देने की परिकल्पना की गई थी।

भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद् की सीनियर और जूनियर फैलोशिप

वर्ष 2009 में परिषद् की "विस्तार योजना" के अंतर्गत यह निर्णय लिया गया कि भारत और उसकी संस्कृति पर काम करने के लिए विदेशी विद्वानों को 30 फैलोशिप प्रदान की जाएंगी। फैलोशिप कार्यक्रम के विचार के पीछे भारत के अध्ययन को करने और इसे बनाए रखने के लिए विदेशी विद्वानों को प्रोत्साहित करने की अवधारणा थी। इसकी बढ़ती लोकप्रियता को ध्यान में रखते हुए इस योजना को जारी रखने का फैसला किया गया था।

बाद में भा.सां.सं.प. ने अपना अकादमिक करियर की शुरुआत करने वाले युवा विद्वानों के भारत में रूचि का लाभ लेने के लिए जूनियर फैलोशिप की भी शुरुआत की।

अब भा.सां.सं.प. संस्कृति और सामाजिक विज्ञान के क्षेत्र में भारतीय अध्ययन में विशेषज्ञता करने वाले अंतरराष्ट्रीय विद्वानों के लिए जूनियर और सीनियर रिसर्च फैलोशिप प्रदान करती है। कार्यक्रम की अवधि 3 से 12 महीने की है।

इस कार्यक्रम के अंतर्गत चयनित अध्‍येता भारत में एक शैक्षणिक संस्था के साथ आपसी सहमति के आधार पर संबद्ध होते हैं। सीनियर फैलोशिप सिद्ध अकादमिक रिकॉर्ड और प्रकाशित काम की स्‍थापित निकाय के साथ प्रख्यात विद्वानों को दी जाती है और 1,50,000/- रु. प्रति माह के समेकित वजीफा का भुगतान किया जाता है, जबकि जूनियर फैलोशिप 50,000/- रुपए के मासिक वजीफे के साथ प्रासंगिक विषयों पर पोस्ट डॉक्टरेट अनुसंधान करने के इच्छुक युवा शोध छात्रों के लिए है।

पुस्‍तकालय फैलोशिप की निबंधन एवं शर्तें:

  1. फैलोशिप को स्वीकार करने पर अध्येता, जो अन्यथा कार्यरत हैं, वे निर्धारित अवधि के भीतर अनुसंधान कार्य सफलतापूर्वक पूरा करने तथा संपूर्ण मोनोग्राफ जमा कराने हेतु अपने मूल संस्थानों से आवश्यक अनुमति और छुट्टी ले सकते हैं।
  2. विद्वानों को कम से कम दस कार्य दिवसों (दो सप्ताह) के लिए भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद् के पुस्तकालय के संसाधनों का उपयोग करना अपेक्षित होगा।
  3. 30,000/- रु. (तीस हजार रुपये केवल) की फैलोशिप राशि का भुगतान भा.सां.सं.प. में  मोनोग्राफ (दो प्रतियां मुद्रित प्रारूप में और सीडी में सॉफ्ट कॉपी) जमा कराने के बाद शोध कार्य के पूरा होने पर किया जाएगा।
  4. मासिक प्रगति रिपोर्ट सदैव उप महानिदेशक (पी), भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद् (ई-मेल: ddgas.iccr@nic.in) को भेजी जानी चाहिए।
  5. अध्येताओं को यात्रा, स्टेशनरी, पुस्तकों की खरीद, टाइपिंग, फोटोकॉपी इत्‍यादि पर किए गए व्यय के लिए संपूर्ण फैलोशिप अवधि हेतु अधिकतम 2,000/- रु. (दो हजार रुपये केवल) तक के आकस्मिक खर्चों की प्रतिपूर्ति की जाएगी। इस संबंध में कैश मेमो, प्राप्तियों और व्यय के विवरणों को संलग्‍न करते हुए दावें को प्रतिपूर्ति की सुविधा हेतु फैलोशिप अवधि के अंत में भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद् को प्रस्तुत किया जा सकता है।
  6. भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद् के पास स्‍वीकृत मोनोग्राफ के प्रकाशन के सभी अधिकार सुरक्षित हैं।

         भा.सां.सं.प. के पुस्तकालय फैलोशिप, 2011-2012

क्र.सं. वित्‍तीय वर्ष पुस्‍तकालय फैलोशिप घोषणा
(हाँ / नही )
पुस्‍तकालय फैलोशिप कार्यक्रमा के लिए विषय पुस्‍तकालय फैलोशिप प्राप्‍तकर्ताओं के नाम कुल फैलोशिप प्राप्‍तकर्ता

1.

2002-03

हाँ

मौलाना आजाद से संबंधित किसी भी विषय पर।

कला, संस्कृति और इतिहास से संबंधित किसी भी विषय पर।

सुश्री शमीजा

सुश्री विनीता अग्रवाल

सुश्री ताहिरा माज़ूर

सुश्री उर्मिमाला सरकार

श्री महेश के. भारतीय

सुश्री सौगात दास

श्री मो. सुहैब आलम

श्री अबू बकर, के.के.

डॉ एस पद्मावती।

श्री शबाज़ आमिल

 श्री जुल्फिकार अली अंसारी

 

11 प्राप्‍तकर्ता

 

2.

2003-04

घोषणा नहीं की

     

 

3.

 

2004-05

 

हाँ

  1. भारत की सांस्कृतिक कूटनीति
  2.  
  3. मौलाना आजाद का विज्ञान, प्रौद्योगिकी और विकास का विजन

सुश्री श्रीप्रिया एस. (अंग्रेजी)

श्री सौरभ शुक्ला (अंग्रेजी)

श्री संजय कुमार (हिन्दी)

श्री चंदन कुमार श्रीवास्तव (हिन्दी)

श्री मोहम्मद अली हबीब (अंग्रेजी)

सुश्री मंजरी श्रीवास्तव (अंग्रेजी)

 

06 प्राप्‍तकर्ता

 

4.

2005-06

हाँ

नाट्यशास्‍त्र में महिलाएं

मौलाना आजाद और पत्रकारिता

डॉ. रवींद्र प्रताप सिंह, व्याख्याता (अंग्रेजी)

श्री अनुपम शेखर (अंग्रेजी)

श्री हेमंत कुमार मिश्रा (हिन्दी)

श्री सुधीर कुमार सिंह (अंग्रेजी)

श्री कुरियन वी. जॉन (अंग्रेजी)

05 प्राप्‍तकर्ता

5.

2006-07

हाँ

मौलाना आजाद का बहुलवादी भारत / भारतीय संस्कृति की बहुलता पर  विजन

श्री यास्‍सर अराफात पोथु कन्‍डीयिल (अंग्रेजी)

डॉ. नौशाद अली (अंग्रेजी)

सुश्री पूजा गहलोत (अंग्रेजी)

03 प्राप्‍तकर्ता

6.

2007-08

हाँ

मौलाना आजाद द्वारा स्थापित संस्थान: एक गंभीर अध्ययन

मौलाना आजाद की साहित्यिक कृतियां और उनके संदेश

श्रीमती विजया श्री सिंह (अंग्रेजी)

श्री आर. सेंथिल कुमारन (अंग्रेजी)

सुश्री उमा शुक्ला (अंग्रेजी)

श्री रमेश बबानी (हिन्दी)

डॉ. मो. ज़ियाउल होंडा अंसारी (उर्दू)

05 प्राप्‍तकर्ता

7.

2008-09

घोषणा नहीं की

8.

2009-10

हाँ

शिक्षा और संस्कृति पर मौलाना आजाद का विजन

महिला सशक्तिकरण

श्री जी. परमासिवन (अंग्रेजी)

श्री अमीष अमेय (अंग्रेजी)

श्री लालकृष्ण मरिमुथु (अंग्रेजी)

श्रीमती जयंत जैन (हिन्दी)

श्री महादेव सिंह (हिन्दी)

श्री फैजान सईद (उर्दू)

 

06 प्राप्‍तकर्ता

 

9.

2010-11

घोषणा नहीं की

     

10.

2011-12

हाँ

स्वामी विवेकानंद और मौलाना आजाद का वि‍जन: एक तुलनात्मक अध्ययन।

फैज अहमद फैज: उनका राजनीतिक विजन।

डॉ. मनीषा माधव (अंग्रेजी)

श्रीमती सुधा रानी (हिन्दी)

श्रीमती अमाम एजाज (उर्दू)

03 प्राप्‍तकर्ता

11.

2012-13

घोषणा नहीं की

     

12.

2013-14

घोषणा नहीं की