भारत आने वाली मंडलियाँ

भारतीय सांस्‍कृतिक संबंध परिषद् की स्थापना के बाद से ही भारत आने वाले सांस्‍क‍ृतिक प्रतिनिधिमंडल का कार्य इसका अभिन्न हिस्सा रहा है और देश में विदेशी सांस्कृतिक प्रस्तुतियों -- विभिन्न देशों के साथ भारत के सांस्कृतिक आदान-प्रदान कार्यक्रम के दायरे के अंदर और बाहर दोनों, को बढ़ावा देने से संबंधित है। 

विदेशों से आने वाली सांस्कृतिक मंडलियाँ

परिषद् द्वारा मेजबानी किए जाने वाले दौरा कर रहे सांस्‍कृतिक दल, अधिकांश भाग के लिए, संबंधित सीईपी के अंतर्गत कवर किए जाते हैं और आदान-प्रदान आधार पर किए जाते हैं।

सामान्य तौर पर इस स्‍कीम के अंतर्गत परिषद् स्‍थल, तकनीकी आवश्‍यकताओं, भारत के भीतर परिवहन, कार्यक्रमों के लिए प्रचार और स्थानीय पर्यटन स्थलों के भ्रमण की व्‍यवस्‍था उपलब्‍ध कराती है और उसकी लागत वहन करती है जबकि भेजने वाला पक्ष दौरा करने वाले सांस्‍कृतिक प्रतिनिधिमंडल का अंतरराष्ट्रीय हवाई किराया और उनको भुगतान किया गया मानदेय वहन करता है। परिषद् का प्राथमिक जनादेश संस्कृति के माध्यम से अंतरराष्ट्रीय समझ बनाना है। इस उद्देश्‍य की  प्राप्‍ति‍ के लिए परिषद् विदेशी सांस्कृतिक मंडलियों द्वारा प्रस्‍तुतियां प्रदर्शित करती है ताकि भारत के लोगों को दुनिया भर की संस्कृतियों को देखने और सराहना करने को मिले। पिछले छह दशकों के दौरान, भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद् ने सांस्कृतिक सप्ताह और एक विशिष्ट देश, क्षेत्र या यहां तक ​​कि महाद्वीप के लिए समर्पित समारोह सहित सैकड़ों सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया है। अंतरराष्ट्रीय सांस्कृतिक दलों की सूची जिन्‍होंने भारत में प्रस्‍तुतियां दीं, को देखने के लिए नीचे दिए गए वर्ष पर क्लिक करें।

2010-11

2011-12

2012-13

2013-14

2014-15 (दिसंबर, 2014 तक)

2010-11
2011-12
2012-13
2013-14
2014-15 (Till December, 2014)
    भारत में महोत्‍सव

इसके अलावा प्रमुख त्यौहार भी आयोजि‍त किए जाते हैं जिसमें देश के विभिन्न स्थानों पर एक साथ कई कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं। वर्ष 2008-2010 में परिषद् ने 2008 के दौरान वर्षभर चलने वाले महोत्‍सव 'भारत में रूस वर्ष', मार्च/अप्रैल, 2008 में अफ्रीका महोत्सव, दिसंबर, 2008 में अरब लीग सांस्कृतिक महोत्सव और फरवरी-दिसंबर, 2009 के दौरान दक्षिण एशिया फ्यूजन बैंड महोत्सव का आयोजन किया था। इन वर्षों में अन्य आयोजित किए गए महोत्‍सवों में नवंबर 2009 में सुप्रभात भारत, भारत में फ्रांस महोत्‍सव, मई, 2010 मे अफ्रीका महोत्सव से अलग अप्रैल, 2010 में दक्षिण एशिया छात्र आदान-प्रदान कार्यक्रम और भारत में चीन महोत्‍सव दोनों और जून-जुलाई, 2010 में अंतरराष्ट्रीय नृत्य महोत्सव शामिल हैं।

भारतीय सांस्‍कृतिक संबंध परिषद् ने भारत में निम्नलिखित प्रमुख महोत्‍सव आयोजित किए:

2010-2011

2010-2011

क) मई, 2010 में 2 दिवसीय अफ्रीका महोत्सव

ख) अगस्त, 2014 में विदेशी राष्ट्रों द्वारा तीन-दिवसीय अंतरराष्ट्रीय नृत्य महोत्सव

ग) अगस्त, 2010 में अंतर्राष्ट्रीय छायानाट्य/ कठपुतली कला

घ) अक्टूबर, 2010 में विदेशी मंडलियों द्वारा राष्ट्रमंडल खेलों में प्रस्‍तुति

च) दिसंबर, 2010 में दिल्ली अंतरराष्ट्रीय कला महोत्सव

छ) दिसंबर, 2010 में दक्षिण एशियाई बैंड महोत्सव

ज) फरवरी, 2011 में सूफी मत की परंपरा

झ) मार्च, 2011 में आसियान देश

2011-2012

क) अप्रैल, 2011 में अंतर्राष्ट्रीय जैज महोत्सव

ख) अक्टूबर, 2011 में दूसरा अंतराष्‍ट्रीय नृत्‍य महोत्‍सव

ग) अक्टूबर/नवंबर, 2011 में दिल्ली अंतरराष्ट्रीय कला महोत्सव

घ) नवंबर, 2011 में फिल्म महोत्‍सव (डीआईएएफ)

च) 28 नवंबर-1 दिसंबर, 2011 तक बौद्ध अंतर्राष्ट्रीय अभियन कला महोत्सव

छ) 02-04 दिसम्बर, 2011 तक दक्षिण एशियाई बैंड महोत्सव

ज) 28 जनवरी से 3 फ़रवरी 2012 तक मिस्र सांस्कृतिक सप्ताह

झ) 06-08 फ़रवरी, 2012 तक सूफी महोत्सव

ट) 16-18 मार्च, 2012 तक दूसरा दिल्ली अंतर्राष्ट्रीय जैज महोत्सव

 

 

 

2012-2013

क) लैटिन अमेरिकी संगीत और नृत्य महोत्सव, 7-9 अप्रैल, 2012  

ख) अफ्रीका महोत्सव कार्यक्रम, 18 -19 जून, 2012

ग) तीसरा अंतरराष्ट्रीय नृत्य महोत्सव, 8- 10 अक्टूबर, 2012

घ) भारत में रूसी संस्कृति दिवस, 25 अक्तूबर-2 नवम्बर, 2012

च) दिल्ली अंतरराष्ट्रीय कला महोत्सव, 24 अक्टूबर-11 नवंबर, 2012

छ) दक्षिण एशियाई बैंड महोत्सव, 7-9 दिसम्बर, 2012

ज) भारत-आसियान पर्व का आयोजन, 13-31 दिसम्बर, 2012

झ) सूफी महोत्सव, 06-08 फ़रवरी, 2013

ट) अंतर्राष्ट्रीय सूरजकुंड शिल्प मेला, 06-15 फ़रवरी, 2013

ठ) विश्व तालवाद्य महोत्सव, 15 फरवरी-14 मार्च, 2013

ड) तीसरा दिल्ली अंतर्राष्ट्रीय जैज महोत्सव, 14-19 मार्च, 2013

2013-2014

क) चौथा अंतर्राष्ट्रीय नृत्य और संगीत महोत्सव-2013

ख) सातवां दक्षिण एशियाई बैंड महोत्सव -2013 (विदेश मंत्रालय की ओर से एजेंसी कार्य)

ग) चौथा अंतर्राष्ट्रीय सूफी महोत्सव- 2014

घ) चौथा दिल्ली अंतर्राष्ट्रीय जैज महोत्सव, 28 से 30 मार्च, 2014

2014-2015

क) 5वां विश्व बांसुरी महोत्सव, 2014 (कृष्ण प्रेरणा चैरिटेबल ट्रस्ट)

ख) अगस्त, 2014 में 5वां विश्व बांसुरी महोत्सव, 2014 (कृष्ण प्रेरणा चैरिटेबल ट्रस्ट)

ग) नई दिल्ली में 10 से 12 अक्टूबर, 2014 तक बेगम अख्तर शताब्दी समारोह

घ) 13-15 अक्टूबर, 2014 के दौरान प्रथम अंतरराष्ट्रीय लोक नृत्य एवं संगीत समारोह

च) 28-30 अक्टूबर, 2014 के दौरान 5वां अंतर्राष्ट्रीय नृत्य और संगीत समारोह

छ) 31 अक्टूबर से 7 नवम्बर, 2014 तक 8वां दिल्ली अंतरराष्ट्रीय कला महोत्सव-2014

ज) पुराना किला में 07 से 09 नवम्बर, 2014 के दौरान आयोजित 8वां दक्षिण एशियाई बैंड महोत्सव

झ) 21 से 23 नवंबर, 2014 तक दूसरा विश्व तालवाद्य महोत्सव

ट) 5 नवंबर से 22 दिसंबर, 2014 तक भारत में रूसी सांस्कृतिक महोत्सव

इन सभी कार्यक्रमों के साथ देश के लोगों को विश्‍वभर से प्रस्‍तुतियां देखने को मिलती हैं और इस तरह विदेशी संस्कृतियों के बारे में उनकी समझ बढ़ती है।