सामान्‍य छात्रवृत्ति-जीसीएसएस

सामान्‍य सांस्कृतिक छात्रवृत्ति योजना (जीसीएसएस) विदेशी छात्रों के लिए भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद् की सबसे महत्वपूर्ण और लोकप्रिय योजनाओं में से एक है। इस योजना के अंतर्गत प्रतिवर्ष छात्रवृत्ति स्नातक, स्नातकोत्तर डिग्री और भारतीय विश्वविद्यालयों में अनुसंधान को आगे बढ़ाने के लिए कुछ खास एशियाई, अफ्रीकी और लैटिन अमेरिकी देशों से संबंधित अंतरराष्ट्रीय छात्रों को दी जाती है। तथापि, एमबीबीएस, बीडीएस या पीएचडी की डिग्री हेतु चिकित्सा अनुसंधान के लिए चिकित्‍सा अध्‍ययन के लिए छात्रवृत्ति जीसीएसएस योजना के अंतर्गत नहीं दी जाती हैं।

जीसीएसएस के अंतर्गत शामिल देशों की सूची नीचे दी गई है:

अफगानिस्तान, आर्मेनिया, अजरबैजान, अर्जेंटीना, बेलारूस, बेलिज, ब्राजील, बेल्जियम, कंबोडिया, फिजी, जॉर्जिया, ग्रीस, जर्मनी, हंगरी, इंडोनेशिया, ईरान, इराक, इजरायल, जापान, जमैका, जॉर्डन, कजाखस्तान, किर्गिस्तान, लाओस, लेबनान, मलेशिया, मालदीव, मंगोलिया, म्यांमार, नेपाल, ओमान, पोलैंड, पुर्तगाल, फिलीस्तीन, कतर, रूस, रीयूनियन द्वीप, सऊदी अरब, स्लोवेनिया, स्पेन, दक्षिण कोरिया, सूरीनाम, सीरिया, ताजिकिस्तान, थाईलैंड, तिमोर-लेस्ते, त्रिनिदाद और टोबैगो, तुर्कमेनिस्तान, तुवालु (फिजी), संयुक्त अरब अमीरात, यूक्रेन, उजबेकिस्तान, वियतनाम और यमन।