आवेदन की प्रक्रिया

छात्रवृत्ति का प्रस्‍ताव विदेशों में स्थित भारतीय राजनयिक मिशनों के माध्यम से संबंधित सरकारों को भेजा जाता है। इसके पश्चात संबंधित सरकारों से प्राप्त नामांकन को भारतीय राजनयिक मिशनों द्वारा अंतिम चयन और नियुक्ति के लिए भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद् को अग्रेषित किया जाता है।

भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद् द्वारा उम्मीदवारों से सीधे आवेदन पर विचार नहीं किया जाता है। अंतर्राष्ट्रीय सरकार से नामितों को विदेशी नागरिकों के लिए छात्रवृत्ति हेतु निर्धारित प्रपत्र को भरना होगा जो  विदेशों में स्थित भारतीय मिशन के पास उपलब्ध है। फार्म भरते समय उम्मीदवार को उसकी इच्‍छानुसार i) सर्टिफिकेट / डिप्लोमा ii) स्नातक की डिग्री iii) स्नातकोत्तर डिग्री iv) डॉक्टरल शोध कार्य जैसे अध्ययन के बारे में निर्दिष्ट करना होगा। उम्मीदवारों को भारत में उनकी पसंद के पाठ्यक्रमों की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए विदेशों में स्थित भारतीय मिशन के पास उपलब्ध भारतीय विश्वविद्यालयों की पुस्तिका से परामर्श करने की सलाह भी दी जाती है। आवेदन फॉर्म के साथ पासपोर्ट आकार के फोटो की तीन प्रतियों के साथ शैक्षिक प्रमाण पत्र की प्रतियों की अपेक्षित संख्या संलग्‍न होनी चाहिए। कुछ मामलों में, उम्मीदवार के नियोक्ता या काम की जगह से अनापत्ति प्रमाण पत्र भी आवश्यक है। सभी आवेदकों को विदेशों में स्थित भारतीय मिशन द्वारा आयोजित एक अंग्रेजी प्रवीणता टेस्ट देना आवश्यक है।

भारतीय विश्वविद्यालय अनुदान आयोग द्वारा मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालयों की सूची यहाँ देखी जा सकती है।

विभिन्न पाठ्यक्रमों के लिए छात्रवृत्ति शर्तें यहाँ देखी जा सकती हैं।

The list of universities recognised by the University Grants Commission of India can be seen here.
The scholarship terms for different courses can be seen here.