पुस्तकालय के बारे में

हमारे पुस्तकालय को ऑनलाइन देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

स्‍वयं एक प्रसिद्ध विद्वान होने के नाते, मौलाना आजाद, भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद के संस्थापक अध्यक्ष, ने साहित्य की सार्थकता एवं महत्व को स्वीकार किया। साहित्य के माध्यम से भारतीय कला, संस्कृति और दर्शन का प्रसार करने के लिए अपने प्रयासों से उन्‍होंने  परिषद् को पुस्तकों और पांडुलिपियों के अपने पूरे संग्रह को उपहार स्‍वरूप देने के माध्‍यम से 1950 में भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद् के पुस्तकालय की स्थापना की। मौलाना आजाद का यह अमूल्य उपहार ही इसका मूल है जिसके चारों तरफ भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद् के पुस्तकालय का निर्माण किया गया है। इस दुर्लभ निजी संग्रह को एक विशेष जगह "गोशा-ए-आजाद" में रखा गया है।

भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद् के पुस्तकालय का संग्रह भारत में प्रमुख सांस्कृतिक संसाधनों में से एक है और इसमें अंग्रेजी, हिंदी तथा उर्दू में पुस्तकों, जर्नलों, पांडुलिपियों और पत्रिकाओं के 56,000 शीर्षकों से अधिक शामिल हैं। संग्रह में भारतीय कला, संस्कृति, इतिहास, साहित्य, दर्शन, अंतरराष्ट्रीय अध्ययन और संबद्ध विषय शामिल हैं। पुस्तकालय उर्दू, अरबी और फारसी में 197 दुर्लभ पांडुलिपियों का संग्रह रखने पर गर्वि‍त है जो माइक्रोफिल्म रोल पर भी उपलब्ध हैं।

पुस्तकालय व्यापक आधार पर ग्राहकों (पाठकों) को सेवा प्रदान करती है जिसमें मानवता और संस्कृति के क्षेत्र में विशेषज्ञता लेने वाले छात्र, शोधार्थी, सरकारी अधिकारी और राजनयिक शामिल हैं।

सेवाएं

  1. पुस्तकालय की सदस्यता।
  2. पुस्तकालय की सूचीबद्ध पुस्तकों की संदर्भग्रंथ सूची खोज के लिए ऑनलाइन पब्लिक एक्‍सेस कैटलॉग (ओपेक)। (वेब ओपेक ऑनलाइन लाइब्रेरी डेटाबेस से किसी भी सूचीबद्ध जानकारी खोजने के लिए एक शक्तिशाली खोज इंजन है)।
  3. तीव्र इंटरनेट की सुविधा।
  4. दुर्लभ सामग्री में से कुछ को माइक्रोफिल्मांकन किया गया है और पाठक पुस्तकालय परिसर में स्थापित माइक्रोफिल्म पढ़नेवाले का उपयोग करके इन को पढ़ सकते हैं।
  5. उपयोगकर्ता फोटोकॉपी सुविधा का उपयोग कर सकते हैं और पुस्तकालय के नियमों के ढांचे के भीतर शैक्षिक गतिविधियों के लिए दस्तावेजों की प्रतियां बना सकते हैं।
  6. भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद् का पुस्तकालय डेवलपिंग लाइब्रेरी नेटवर्क (डेलनेट) का एक सदस्य है।

पुस्तकालय नियम

  1. नि:शुल्क परामर्श / संदर्भ सदस्यता।
  2. व्यक्तिगत सदस्यों के लिए कोई उधार लेने की सुविधा नहीं।
  3. अंतर-पुस्तकालय ऋण सुविधाएं उपलब्ध हैं।
  4. @1/- रु. प्रति पृष्ठ संसाधन/ दस्तावेजों की कुल सामग्री के 10-15% की सीमा के भीतर फोटोकॉपी सेवा।

.

path="http://iccr.gov.in/sites/default/files/library/membershipform.pdf" (title="लाइब्रेरी सदस्यता फार्म डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें") target="_blank"लाइब्रेरी सदस्यता फार्म डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें[/link

भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद् के पुस्तकालय में परिवर्धन

समाचार पत्रों, जर्नलों और पत्रिकाओं की सूची

Newspapers 2014-2015

Journals 2014

Magazines 2014-2015

पुस्‍तकालय फैलोशिप क अभिलेखागार